Crime Enconter Gwaliyar Kanpur Lucknow Madhya Pradesh Slider Uttar Pardesh

गैंगेस्टर विकास के खात्मे के बाद अब पुलिस की नज़र शरण देने वालो पर ,ग्वालियर में दो गिरफ्तार। आखिर कौन है ? जाने 

Spread the love

(ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

कानपुर / लखनऊ। गैंगेस्टर विकास दुबे के एनकांटर के बाद भी पुलिस की कार्यवाही जारी है। पुलिस लगातार विकास दुबे और उसके गैंग को शरण देने वालो पर अपना शिकंजा कस्ती जा रही है। यूपी पुलिस ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर में रहने वाले दो लोगो को गिरफ्तार किया है। इन पर आरोप है की घटना में विकास दुबे के दो साथियो को इन्होने अपने यहाँ शरण दी थी। गिरफ्तार किए गए लोगों में ओम प्रकाश पाण्डेय और अनिल पाण्डेय प्रमुख हैं।  कानपुर पुलिस का कहना है कि इन दोनेां के खिलाफ भी कानपुर में केस दर्ज है। पुलिस के अनुसार कानपुर कांड में वांछित शशिकांत पांडेय उर्फ सोनू और शिवम दुबे को ओम प्रकाश पांडेय निवासी भगत सिंह नगर, प्राचीन मंदिर के पास, थाना गोले का मंदिर, ग्वालियर और अनिल पांडेय निवासी सागर ताल, सरकारी मल्टी थाना गोरखपुर, ग्वालियर ने अपने यहां छिपाए रखा।  दोनों के खिलाफ कानपुर नगर के चौबेपुर थाना में केस दर्ज है।  गिरफ्तार करने वाली टीम में एसआई अजहर इसरत, हेडकांस्टेबल संजय, कांस्टेबल प्रकाश और कांस्टेबल चंदन प्रमुख हैं।  

अब भीएक दर्जन है फरार
बता दें फिलहाल पुलिस ने विकास दुबे सहित 6 लोगों को एनकाउंटर में मार गिराया है, वहीं 3 को गिरफ्तार किया है।  अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि बिकरू कांड को अंजाम देने के मामले में 21 अभियुक्तों को नामजद किया गया था जबकि 60 से 70 अन्य अभियुक्त भी पुलिस के राडार पर हैं।  उन्होंने बताया कि विकास दुबे समेत 6 नामजद अभियुक्त मारे जा चुके हैं, जबकि 3 को गिरफ्तार किया गया है।  एडीजी ने कहा कि 21 में से 12 अपराधियों को भी भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।  वहीं मामले में अन्य अभियुक्तों में 8 को गिरफ्तार किया गया है। 
लगातार छापेमारी
जानकारी के अनुसार पुलिस की टीमें लगातार फरार अभियुक्तों की तलाश में छापेमारी कर रही हैं।  बता दें उज्जैन में गिरफ्तार होने के बाद विकास दुबे को कानपुर लाया जा रहा था।  यहां एसटीएफ की गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ और पुलिस के अनुसार विकास दुबे ने एक पुलिसकर्मी की पिस्टल छीनने की कोशिश की।  इसके बाद उसने पुलिस पर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश की, जवाबी फायरिंग में उसे गोली लगी।  इसके बाद पुलिस ने विकास दुबे को अस्तपाल में भर्ती कराया, यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।  वहीं अन्य एनकाउंटर में विकास के साथी अमर दुबे सहित 5 अपराधियों की मौत हो चुकी है।   


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *