Haridwar Kumbh mela 2021 Slider Uttarakhand

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत पहुचे मायादेवी, कुम्भ मेला 2021 निर्विध्न सम्पन्न होने की कामना। आखिर कैसे ? टैब कर जाने 

Spread the love

* जूना,अग्नि,आवाहन,किन्नर अखाड़े के धर्मध्वजा स्थापित करने के कार्यक्रम की नारियल फोड़कर की शुरूआत। 

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )
 हरिद्वार।
नागा सन्यासियों के सबसे बड़े अखाड़े श्रीपंच दशनाम जूना अखाड़ा,आवाहन अखाड़ा तथा अग्नि अखाड़ा की धर्मध्वजा स्थापित किये जाने की बुधवार सबेरे से ही जोरदार तैयारियाॅ चल रही थी। इन धर्म ध्वजा की स्थापना शाम 4बजे की जानी थी,जिसमें मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के भी शामिल होने की संभावना थी,हालांकि मुख्यमंत्री के कार्यालय से जारी प्रोटोकाल में इसका उल्लेख नही था,लेकिन मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सारे प्रोटोकाल तोड़ते हुए हैलीपैड से सीधे जूना अखाड़ा पहुच गए। जहां अखाड़े के जूना अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि महाराज,अन्र्तराष्ट्रीय सभापति श्रीमहंत प्रेम गिरि महाराज,राष्टीय सचिव श्रीमहंत मोहन भारती,श्रीमंहत महेशपुरी, श्रीमहंत शेैलेन्द्र गिरि,श्रीमहंत गणपतगिरि,उपाध्यक्ष श्रीमहंत विद्यानंद सरस्वती,प्रवक्ता श्रीमहंत नारायण गिरि,थानापति नीलकंठ गिरि ने उनका स्वागत किया।

श्रीमहंत हरिगिरि महाराज के संयोजन में मुख्यमंत्री श्री रावत ने अधिष्ठात्री देवी मायादेवी की पूजा अर्चना कर कुम्भ 2021 के सफल,कुशल व निर्विध्न सम्पन्न होने का आर्शीवाद मांगा। दत्तात्रेय चरणपादुका के दर्शन कर मुख्यमंत्री श्रीरावत ने नारियल फोड़कर धर्मध्वजा स्थापना के कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।  मुख्यमंत्री मायादेवी मन्दिर प्रांगण में ही स्थापित होने वाली आवाहन अखाड़े की धर्मध्वजा के धार्मिक आयोजन का शुभारम्भ करने आवाहन अखाड़े की चरणपादुका पहुचे। जहां राष्टीय महामंत्री सत्यागिरि महाराज के नेतृत्व में श्रीमहंत नीलकंठ गिरि,श्रीमहंत बिहारी गिरि,श्रीमहंत राजेश गिरि,श्रीमहंत राजेन्द्र भारती,श्रीमहंत भोला गिरि,श्रीमहंत कैलाशपुरी,श्रीमहंत बालयोगी पुरी,श्रीमहंत मनमोहन गिरि,श्रीमहंत घनश्याम गिरि आदि ने स्वागत किया।

अखाड़े के इष्टदेव भगवान गणेश की पूजा अर्चना के पश्चात मुख्यमंत्री ने नारियल फोटकर धर्मध्वजा स्थापना कार्यक्रम का श्रीगणेश किया। यहां से मुख्यमंत्री अग्नि अखाड़े की चरणपादुका पहुचे,जहां सभापति ब्र0मुक्तानंद बापू,ब्र0आनन्द चैतन्य,ब्र0साधनानंद,ब्र0निलेश चैतन्य,महामंत्री ब्र0सोमेश्वरानंद,ब्र0सम्पूर्णानंद,ब्र0नारायण प्रकाश,महामण्डलेश्वर कनकेश्वरी देवी,महामण्डलेश्वर विष्णुदेवानंद आदि ने स्वागत किया। श्रीरावत ने अखाड़े की इष्टदेवी गायत्री माता की पूजा अर्चना कर नारियल फोड़कर धर्मध्वजा स्थापना कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।  वही मुख्यमंत्री ने किन्नर अखाड़े के संतो और महामण्डलेश्वरों से भी भेंट की तथा कुम्भ मेले की व्यवस्थाओं के बारे में चर्चा की। बताते चले कि किन्नर अखाड़ा पहली बार आचार्य महामण्डलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी के नेतृत्व में हरिद्वार कुम्भ मेला में धर्म ध्वजा स्थापित कर जूना अखाड़े के साथ शाही स्नान करेगा।इसके साथ साथ दण्डी स्वामी जी हरिद्वार में जूना अखाड़े के साथ पहली बार शाही स्नान में भाग लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *