Dehradun Politics Slider Uttarakhand Vikash Nagar

शासन के पत्रों पर कार्रवाई करने में रूचि नहीं ले रहे निदेशालय। आखिर क्यों ? टैब कर जाने 

Spread the love

#शासन द्वारा निदेशालय को संदर्भित पत्र दो-चार महीने एक ही पटल पर फांकते हैं धूल |      #राज्य गठन की अवधारणाएं हो रही तार- तार |       #अधिकारियों को न मुखिया का खौफ और न ही शासन का !             # कैसे मिलेगा जनता को  न्याय !            

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

विकासनगर।  जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि निदेशालय में बैठे अधिकारियों को न ही मुखिया का भय है और न ही शासन का !      नेगी ने कहा कि आलम यह है कि जनता की शिकायतों एवं उनको न्याय  देने के मामलों में शासन द्वारा निदेशालयों को संदर्भित पत्र कई- कई महीने धूल फांकने के पश्चात ही गतिमान होते हैं तथा संबंधित पटल पर पहुंचते-पहुंचते 6-7 महीने लग जाते हैं यानी उनको न्याय मिलना तो दूर, अपना शिकायती पत्र खोजना ही टेढ़ी खीर साबित हो रहा है |                    

नेगी ने कहा कि आज राज्य गठन की अवधारणाओं को मुखिया/ मंत्रियों एवं अधिकारियों की जुगलबंदी ने तार -तार कर दिया है | जनता न्याय पाने के लिए एक पटल से दूसरे पटल पर  धूल फांकने को मजबूर है | मोर्चा ने मुख्य सचिव को पत्र भेजकर विभागों पर चाबुक चलाने हेतु आग्रह किया है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *