Crime Dizaster Enconter Kanpur Slider Uttar Pardesh

मोस्ट वांटेड विकास दुबे ,कानपुर वाले का खात्मा भी कानपुर में ही।  आखिर कैसे ? जाने 

Spread the love

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर से बड़ी खबर आ रही है कि विकास दुबे ,कानपुर वाला का खात्मा भी कानपुर में ही हुआ। यहाँ UP STF का काफिले की कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस काफिले में मध्य प्रदेश से गिरफ्तार मोस्ट वॉन्टेड अपराधी विकास दुबे सवार था। यह वही कार थी जिसमे एसटीएफ के अधिकारियो सहित विकास दुबे भी सवार था,वही गाड़ी हादसे की शिकार हुई। घटना कानपूर के बर्रा वाला थाना क्षेत्र की है। अधिकारियो का कहना है कि कार पलटने के बाद विकास एसटीएफ विकास दुबे ने भागने की कोशिश की और मुठभेड़ में मारा गया।  जानकारी के मुताबिक, विकास दुबे के शव को मुठभेड़ के बाद हैलट अस्‍पताल में रखा गया है।  एसएसपी और अस्‍पताल के डॉक्‍टरों ने विकास दुबे के मारे जाने की पुष्टि की है। 

कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने भी गैंगस्‍टर विकास दुबे के मारे जाने की पुष्टि कर दी है। एनकाउंटर में 2 इंस्पेक्टर(एक एसटीएसफ़ इन्स्पेक्टर)  समेत चार पुलिसकर्मी भी  घायल हुए है। आखिर जिसका उसे डर था वही हुआ। वही इस एनकाउंटर को लेकर बृहस्पतिवार को ही सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। जिसमे आशंका जताई गई थी कि विकास दुबे का एनकांटर ना हो जाय।वही सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि दरअसल कार पलटी नहीं ,राज खुलने से सरकार पलटने से बचाई गई।  


विकास ने कर दी फायरिंग
एसएसपी ने बताया कि गैंगस्‍टर विकास दुबे को ला रही गाड़ी पलट गई थी।  वह किसी तरह बाहर निकला और घायल सिपाहियों की पिस्‍टल छीनकर भागने लगा।  एसटीएफ के जवानों ने तब मोर्चा संभाल लिया।  वहीं, वेस्‍ट कानपुर के एसपी ने बताया कि विकास दुबे को सरेंडर करने को कहा गया था, लेकिन उसने फायरिंग शुरू कर दी।  जवाबी फायरिंग में वह मारा गया।  दूसरी तरफ, एसएसपी ने 4 सिपाहियों के घायल होने की भी बात कही है। 


पता चला है कि गाड़ी पलटने के बाद घायल एसटीएफ के पुलिसकर्मियों की पिस्टल छीन कर विकास दुबे ने भागने की कोशिश की।  इस दौरान साथ में वाहन चल रहे थे, उसमें पुलिस टीम ने विकास दुबे पर जवाबी फायरिंग की। खबर आ रही है कि गोली लगने से बुरी तरह घायल विकास दुबे की मौत हो गई है।  

उज्‍जैन में हुआ था गिरफ्तार
यूपी का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी विकास दुबे को उज्जैन में गिरफ्तार किया गया था।  मध्‍य प्रदेश पुलिस ने उसे यूपी पुलिस को सौंप दिया था।  उसे सड़क मार्ग से यूपी एसटीएफ की टीम कानपुर ला रही थी।  इससे पहले गुरुवार को एक व्यक्ति ने खुद को यूपी का मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे बताने लगा था।  बताया जा रहा है कि महाकाल मंदिर परिसर में पहुंच कर यह शख्स चिल्ला-चिल्ला कर ख़ुद को विकास दुबे बता रहा था।  उसे फौरन मंदिर परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड ने पकड़ लिया और पुलिस को इसकी सूचना दी थी।  जिसके बाद महाकाल थाना पुलिस उसे गाड़ी मे बैठाकर कंट्रोल रूम की तरफ रवाना हो गयी।  पुलिस ने जब शख्‍स को पकड़ा तो चिल्‍लाने लगा- मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला।अवगत कराना है कि थाना चौबेपुर पर दिनांकः 03.07.2020 को पंजीकृत मु0अ0स0 192/20 धारा 147/148/149/302/307/394/120बी भादवि0 व 7 सीएलए एक्ट जो 08 पुलिसकर्मियों के शहीद होने से सम्बन्धित है, में वांछित 5 लाख रु0 का इनामियां अभियुक्त विकास दुबे पुत्र राम कुमार दुबे नि0 बिकरू थाना चौबेपुर कानपुर नगर को उज्जैन, मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने के पश्चात  पुलिस व एसटीएफ टीम द्वारा आज 10.07.2020 को कानपुर नगर  लाया  जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *