Breaking News Ghaziabad Gorakhpur Haridwar Kanpur Nagar Merrut National New Delhi Politics Slider Uttar Pardesh Uttarakhand Varanasi

तस्वीरो में लॉकडाउन : उत्तर भारत के हरिद्वार ,वाराणसी ,कानपुर ,गोरखपुर ,ग़ाज़ियाबाद और मेरठ के आखिर क्या है हालत ? जाने 

Spread the love

* कही कालाबाज़ारी तो पुलिस का रोल रहा सही तो बाज़ारो में उमड़ी खरीदारी के लिए भींड ।

(विज्ञापन)

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

हरिद्वार / वाराणसी / कानपुर / गोरखपुर / ग़ाज़ियाबाद /मेरठ । प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने महामारी के बीच एक सप्ताह में  देश  सम्बोधित  21 दिन के सम्पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है। PM मोदी के घोषणा  रात्रि 12 बजे से लॉक डाउन पुरे देश में लागु है,साथ ही उन्होंने कहा कि इस महामारी से बचने का एक मात्र उपाय सामाजिक दूरी बनाये रखना है। उन्होंने कि महामारी के संक्रमण के चक्र को हर हाल में तोडना जरुरी है। प्रधानमन्त्री ने लोगो से अपने घरो में रहने की अपील की और कहा कि घर में रहे और सिर्फ घर में रहे।        उनकी अपील के बाद देशव्यापी लॉकडाउन का आज पहला दिन है। ऐसे में आइए जानते हैं कि उत्तर भारत के कुछ प्रमुख शहरों का हाल कैसा है…

( राशन की दुकान पर सब्जिया बिकती हुई ,फोटो : न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )


विश्व प्रसिद्ध शहर हरिद्वार 

हरिद्वार में कई इलाको में सन्नाटा पसरा नज़र आया। लेकिन कई स्थानों पर लोग बेपरवाह भी दिखे। ऐसे लोगो पर पुलिस की सख्ती दिखाई दे रही है।  सुबह 7 से 10 बजे तक दुकानों के खुले रहने का कालाबाज़ारी करने वालो ने जमकर लाभ उठाया। जीहां ,आपको विश्वास नहीं होगा पर सच्चाई है।  आपको बीएचईएल की कुछ तस्वीरे दिखता हूँ , जिसमे राशन के सामान बेचने वालो ने सब्जिया तक बेचनी शुरू कर दी वह भी आने पौने दामों पर।  जब हमारे संबाददाता ने एक दुकानदार से कहा कि राशन के दुकानों पर सब्जिया ,वह भी इतनी महंगी।  तो दुकानदार ने कहा आप शुक्र मनाओ कि आपको सब्जिया मिल तो रही है। इस हमारे संवाददाता ने पूछा कि आलू क्या हिसाब हो ,तो दुकानदार ने कहा ,आलू 50 रूपये किलो और टमाटर 40 रुपीर किलो। संवाददाता ने कहा ,मण्डी में तो आलू 20 रूपये और टमाटर 22 रूपये किलो मिल रहे है,इतनी कालाबाज़ारी ? तो दुकानदार ने छूटते ही बोला – भइया इसके लिए सुबह 5 बजे जागकर सब्जी मण्डी गया हूँ ,और आप है कि कालाबाज़ारी की बात कर रहे है।

( राशन के लिए दुकान पर लगी भींड ,फोटो : न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

यहाँ कहने का मकसद सिर्फ और सिर्फ यह है कि जिसका जो काम है वह काम ना करके दूसरा  काम कर रहा है और औने पौने दामों पर सामान बेच रहा है। इसके उलट वही एक राशन की दुकान पर दूसरा ही नज़ारा देखने को मिला। इस दुकानदार ने सामान सभी को बराबर – बराबर दिया। यहाँ जब हमारे संवाददाता ने पूछा कि ऐसा क्यों है ,जिसको जितना चाहिए उतना दे दो।  तो उस दुकानदार ने कहा कि सामान काम है और ग्राहक है ज्यादा ? लिहाजा सभी की पूर्ति करनी है।  तब संवाददाता ने कहा कि और सामान माँगा लो। इस बात पर उस दुकानदार ने उसके सामने ही एक होल सेलर को फोन मिलाया और बोलै की सामान भेजवा दो।  होलसेलर ने छूटते ही बोलै समय और वाहन दोनों नहीं है। लिहाजा खुद आओ और सामान लेजाओ। ऐसे में कालाबाज़ारी बढ़ेगी या नहीं ! आप खुद समझदार है।

वाराणसी में लोग जरूरी सामान लेने निकले- फोटो News1Hindustan

 वाराणसी
वाराणसी में कई इलाकों में सन्नाटा पसरा नजर आया। लेकिन कई जगहों पर लोग बेपरवाह दिखे। ऐसे लोगों पर पुलिस भी सख्त दिखाई दे रही है। सड़कों पर घूमने वालों को पुलिस घर भेज रही है। दशाश्वमेध इलाके में क्षेत्राधिकारी दशाश्वमेध, दशाश्वमेध थाना प्रभारी और क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट द्वारा लाइन लगवाकर सामान लेने की व्यवस्था लागू की गई है। वाराणसी में सुबह 6 बजे से 10 बजे तक बाजार खुले, इस दौरान दुकानदारों ने लोगों से मनमाने पैसे लिए। सड़कों पर पुलिस तैनात है, वाहन चालकों पर सख्ती की जा रही है। मंडलायुक्त, आईजी, जिलाधिकारी, एसएसपी शहर का निरीक्षण कर रहे हैं।नए नियम के अनुसार, बुधवार से अगले निर्देश तक वाराणसी में सुबह 6 से 12 बजे तक दुकानें अनाज, गल्ला, किराना, जनरल स्टोर, दूध, सब्जी, फल, पेट्रोल पंप, सीएनजी स्टेशन  खुलेंगी। सुबह 6 से 10 बजे तक सब्जी, फल और दूध की थोक मंडियां खुलेंगी। थोक मंडियां केवल रिटेल दुकानदारों को समान बेच सकेंगी।   
कानपुर

कानपुर सहित आसपास के 13 जिलों में  लॉक डाउन के पहले दिन सुबह से ही बाजारों में खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी राशन की दुकानों सब्जी मंडी हो या पूजन सामग्री की दुकानें हर जगह लॉक डाउन की धज्जियां उड़ती नजर आई। कानपुर सहित आसपास के जिले की सीमाओं को पहले ही सील किया जा चुका है लेकिन जरूरत की चीजों को भी अब आने से रोका जा रहा है। कई इलाकों में पुलिस ने ब्रेड अनाज सब्जियों की गाड़ियों को रोका गया।  नवरात्रि के पहले दिन की वजह से दुकानों पर ज्यादा भीड़ नजर आई।  21 दिनों का लॉक डाउन होने की वजह से राशन की दुकानों पर पहुंच लोगों ने सामान जुटाना शुरू कर दिया।  प्रशासन ने सुबह 6:00 बजे से 11:00 बजे तक खरीदारी और जरूरत का सामान लेने की छूट दी है।

गोरखपुर का हाल- फोटो News 1 Hindustan

गोरखपुर
गोरखपुर में लॉकडाउन के पहले दिन पुलिस ने लोगों को घर में ही रहने की हिदायत दी। इस दौरान बहुत से लोग बिना जरूरत के घर से बाहर निकलने, जिन्हें पुलिस ने हिदायत देक कर छोड़ दिया। प्रशासन ने जरूरत के सामान के लिए दुकानों को साढ़े नौ बजे तक खोलने का आदेश दिया है।

गाजियाबाद सब्जी मंडी का हाल- फोटो News 1 Hindustan

  गाजियाबाद
गाजियाबाद की सब्जी मंडी लॉकडाउन के बावजूद लगी भारी भीड़।

मेरठ का हाल- फोटो : News 1 Hindustan

मेरठ21 दिन के लॉकडाउन के मद्देनजर पश्चिमी यूपी में पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। बेवजह सड़कों पर निकलने वालों पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। लॉकडाउन के पहले दिन मंगलवार को जहां लोग भारी संख्या में राशन स्टोर करने के लिए दुकानों पर पहुंचे। वहीं बुधवार को यह संख्या काफी कम रही। लोग जरूरी सामान लेने के लिए दुकानों पर पहुंचे जहां पुलिस ने नौ बजे के बाद दुकानें बंद करा दीं।वहीं स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह अलर्ट है। मेरठ में स्वास्थ्य विभाग की टीम विदेश से आए लोगों की निगरानी के साथ साथ लोगों को जागरूक करने पर भी जोर दे रहे हैं। लाॅकडाउन के बीच भूखों को भोजन और लोगों को जरूरत का सामान पहुंचाने के लिए भी लोग आगे आ रहे हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से एक दूसरे की मदद का प्रचार कर रहे हैं। शामली के कैराना में कोरोनावायरस का पाॅजिटिव मरीज मिलने के बाद सन्नाटा पसरा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *