Haridwar Politics Slider Uttarakhand

बहुजन समाज पर लगातार हो रहे  अत्याचारों के  व  हाथरस की बेटी के हत्यारों को फांसी दिलाने के लिये बहुजन क्रांति मोर्चा ने किया प्रदर्शन। आखिर कहा ? टैब कर पढ़े 

Spread the love

* भाजपानीत सरकारों में दलित पिछड़े व मुस्लिमों पर हो रहें अत्याचार –राजेंद्र श्रमिक 

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )
हरिद्वार।
बामसेफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बहुजन क्रांति मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक  वामन मेश्राम के आह्वान पर मूलनिवासी बहुजन समाज पर लगातार हो रहे  अत्याचारों के खिलाफ  व  हाथरस की बेटी के हत्यारों को फांसी दिलाने के लिये बहुजन क्रांति मोर्चा के द्वारा  हरिद्वार में धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन प्रस्तुत किया गया। धरने पर उपस्थित समूह को सम्बोधित करते हुए श्रमिक नेता राजेंद्र श्रमिक ने कहा कि  पुरे देश में बहुजन समाज के ऊपर जुल्म और ज्यादती हो रहीं हैं तथा सरकार कार्यवाही करने के बजाय तमाशा देख रही है। उन्होंने कहा कि अब हद पार हो गयी है जुल्म सहने की तथा अब हर अत्याचार का मुँह तोड़ जवाब दिया जायेगा।उन्होंने कहा कि भाजपानीत सरकारों में दलित पिछड़े व मुस्लिमों पर अत्याचार बढे हैं।  


 चमार वाल्मीकि महासंघ के अध्यक्ष भंवर सिंह कहा कि हाथरस बेटी को न्याय दिलाने के लिए व बलात्कारी हत्यारों को फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित कर सभी अपराधियों को जल्द से जल्द फांसी दिलाने, पीड़ित परिवार को एक करोड रुपए  मुआवजा,  परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी,  सरकारी आवास,  व पूरे परिवार की सुरक्षा प्रदान करने के लिए  हरिद्वार सहित पुरे देश में बहुजन क्रांति मोर्चा द्वारा जिला मुख्यालयो पर कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए महामहिम राष्ट्रपति को 9 सूत्रीय ज्ञापन जिला अधिकारी हरिद्वार को दिया किया।
ज्ञापन प्रस्तुत करने वालों में मुख्य रूप से बहुजन क्रांति मोर्चा के प्रदेश संयोजक भंवर सिंह,  राष्ट्रीय मूलनिवासी महिला संघ की प्रदेश अध्यक्ष ललिता रानी,  राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा के जिला अध्यक्ष नसीर अहमद,  बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संजय मूलनिवासी,  चमार वाल्मीकि महासंघ के शहर अध्यक्ष सुनील राजोर, राजेंद्र भंवर,  शहर युवा के अध्यक्ष जितेंद्र तेशवर, अनेकी ग्राम प्रधान नरेश कुमार, रविंद्र सिंह, पुरुषोत्तम ,सागर कांगड़ा तारावती, सविता, सरोज, चांद मुखी ,केमिता, पुष्पा, भावना ,संजय कुमार, संदीप, अशोक कुमार, संजीव बाबा , दुलारी बाल्मीकि आदि रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *