Dehradun Haridwar Mausam Mausam Alert Slider Uttarakhand

उत्तराखण्ड में भारी बारिश  आसार ,मौषम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट ! पहाड़ो पर भी बुरा हाल। आखिर कैसे ? Tap कर जाने 

Spread the love

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

देहरादून। उत्तराखण्ड के गढ़वाल क्षेत्र के चमोली ,रुद्रप्रयाग ,पौड़ी जिलों के आलावा कुमांऊ क्षेत्र  स्थानों पर अगले 24 घंटे में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना मौषम विभाग ने जताई है। सोमवार को देहरादून सहित राज्य के अधिकतर इलाको में बादल छाए रहें। रविवार देर रात को रुद्रप्रयाग में मूसलाधार बारिश हुई। यहां सोमवार सुबह से रुद्रप्रयाग से केदारनाथ धाम तक घने बादल छाए हैं। मसूरी में सोमवार को बारिश हुई।बदरीनाथ हाईवे लामबगड़ के पास मलबा आने से सुबह 10 बजे बंद हो गया। हाईवे खोलने का काम चल रहा है। वहीं जिलें में 26 संपर्क मार्ग बंद हैं। चमोली जिले में बीती रात को तेज बारिश हुई। अभी मौसम बदला हुआ है।
भारी बारिश की संभावनाओं को देखते हुए मौसम विभाग की ओर से ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है। वहीं राजधानी देहरादून सहित हरिद्वार में आसपास के इलाकों में भी अगले चौबीस घंटे में तेज गर्जना के साथ बारिश की संभावना जताई गई है। 
दूसरी ओर कई दिनों की झमाझम बारिश के बाद रविवार को मौसम का मिजाज बदला रहा। राजधानी दून ,हरिद्वार व आसपास के इलाकों में न सिर्फ चटख धूप निकली, वरन लोगों को गर्मी का भी सामना करना पड़ा। हालांकि कुछ इलाकों में हल्की बारिश भी हुई। चटख धूप निकलने से अधिकतम तापमान 30.2 डिग्री और न्यूनतम तापमान 24.9 डिग्री दर्ज किया गया।


सेहत के लिहाज से कतई ठीक नहीं ये मौसम
दूसरी ओर चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि अचानक बारिश और धूप का जो गठजोड़ दिखाई दे रहा है। यह सेहत के लिहाज से कतई ठीक नहीं है। ऐसे में लोगों को थोड़ा सा ध्यान रखने की जरूरत है।
भूतपूर्व चिकित्सक गंगा राम / तीरथ राम अस्पताल ,दिल्ली एवं हरिद्वार स्थित अन्नय मैटरनिटी एवं मेडिकल सेन्टर के एमडी ड्रा राम शर्मा  का कहना है कि बारिश के चलते तापमान में तेजी से गिरावट और फिर चटख धूप से तापमान में तेजी से बढ़ोतरी से सर्दी, जुखाम, बुखार होने की पूरी संभावना रहती है, ऐसे में लोगों को थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है।
दूसरी ओर मौसम का जो मिजाज दिखाई दे रहा है। ऐसे में इस मौसम में डेंगू और मलेरिया के मच्छरों के तेजी से पनपने की संभावना रहती है। इससे बचाव के लिए लोगों को पूरी आस्तीन के कपड़े पहनने के साथ ही मलेरिया और डेंगू के मच्छरों से बचने की भी जरूरत है।


भारी बारिश के बीच कैबिनेट मंत्री ने नंगे पांव किया क्षतिग्रस्त सड़क, पुश्ते का निरीक्षण
मूसलाधार बारिश के चलते राजधानी देहरादून से सटे इलाके धोरण गांव में सड़क के क्षतिग्रस्त होने की जानकारी मिलने के बाद कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी अधिकारियों, पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के साथ झमाझम बारिश के बीच मौके पर पहुंचे।
इतना ही नहीं कैबिनेट मंत्री जोशी से नंगे पांव बारिश के बीच न सिर्फ क्षतिग्रस्त पुश्ते व सड़क का निरीक्षण किया, वरन मौके पर मौजूद अधिकारियों को इस बात की हिदायत दी कि क्षतिग्रस्त पुश्ते व सड़क का निर्माण कराया जाए। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि जब तक सड़क का निर्माण न हो, लोगों को वैकल्पिक मार्ग की व्यवस्था की जाए। 
मकान की छत गिरने से नुकसान 
देहरादून में एक मकान की छत गिरने से घर में रखे सामान को नुकसान हुआ है। गनीमत रही कि उस वक्त घर में कोई नहीं था। कोतवाली पुलिस के अनुसार चौकी लक्ष्मण चौक के पास शिवाजी मार्ग में एक मकान की छत गिरने की सूचना मिली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मलबा हटाया। यह मकान सुरेश चंद्र का था। घर में रखे सामान को नुकसान पहुंचा है।
बारिश से शहर की सड़कों का हुआ बुराहाल

राजधानी में हुई झमाझम बारिश ने शहरों की सड़कों का बुराहाल कर दिया है। मुख्य रास्तों से लेकर संपर्क मार्ग तक पर गड्ढे हो गए हैं। इससे शहरवासियों को परेशान होना पड़ रहा है। कई सड़कों पर बजरी निकलने से दो पहिया वाहन चालक फिसलकर चोटिल हो रहे हैं। इसके बावजूद नगर निगम और लोक निर्माण विभाग इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *