International Islamabad Jammu and Kashmir National Politics

राम मंदिर शिलान्यास पर बौखलाया पाकिस्तान ,कहा भारत में सेक्युलरिज्म नहीं रहा। आखिर क्यों ? जाने 

Spread the love

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

इस्लामाबाद। अयोध्या में मन्दिर के शिलान्यास से पाकिस्तान बौखला गया है। अन्तरराष्ट्रीय मंचो पर कश्मीर का राग अलाप रहे पाक ने राम मंदिर के मुद्दे पर बह भारत को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। पाक के वजीरेआजम इमरान खान  सरकार में रेल मंत्री शेख रशीद ने मोदी सरकार की आलोचना करते हुए उसे सांप्रदायिक करार दिया है।  रशीद ने एक बयान में कहा- 'भारत अब राम नगर हो गया है।  वहां सेक्युलरिज्म नहीं रहा। ‘ रशीद ने आगे कहा कि भारत में अब हिंदूवादी ताकतें हावी हो गयी हैं। मंगलवार को एक बयान में पाक के रेल मंत्री शेख रशीद ने भारत में सेक्यूरिजम पर सवाल खड़े किये है। उन्होंने कहा- ‘भारत अब राम नगर में तब्दील हो चुका है।  वहां सांप्रदायिकता बढ़ रही है और धर्म निरपेक्षता यानी सेक्युलरिज्म खत्म हो रहा है।  साफ तौर पर कहूं तो भारत अब सेक्युलर रहा ही नहीं, वहां अल्पसंख्यकों को दिक्कत हो रही है।  भारत अब श्रीराम के हिंदुत्व में ढल चुका है.’ रशीद कश्मीर का राग अलापने से भी पीछे नहीं रहे।  यह संयोग ही है कि जिस दिन मोदी राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे, उसी दिन जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए हुए एक साल हो रहा है।  केंद्र सरकार ने पिछले साल 5 अगस्त को ही अनुच्छेद 370 हटाया था।  इसके साथ ही कश्मीर का स्पेशल स्टेटस भी खत्म हो गया था।  रशीद ने कहा- ‘पाकिस्तान के मुसलमान कश्मीरियों के साथ खड़े हैं। भारत उन्हें यह तय करने का मौका दे कि वे किसके साथ रहना चाहते हैं। ‘  

भारत ने पाकिस्तान के नक़्शे को खारिज किया
इससे पहले पाकिस्तान ने उकसावे की कार्रवाई के तहत मंगलवार को एक नया ‘राजनीतिक मानचित्र’ जारी किया ,जिसमें उसने पूरे जम्मू-कश्मीर और गुजरात के कुछ हिस्सों को अपना क्षेत्र बताया।  उसकी इस कार्रवाई पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया जताई और इसे ‘हास्यास्पद’ बताया ‘जिसकी न तो कानूनी वैधता है न ही ‘अंतरराष्ट्रीय विश्वसनीयता। ‘ विदेश मंत्रालय ने नई दिल्ली में बयान जारी कर कहा, ‘हमने पाकिस्तान का एक तथाकथित ‘राजनीतिक मानचित्र’ देखा है जिसे प्रधानमंत्री इमरान खान ने जारी किया है।  यह राजनीतिक मूर्खता का काम है जिसमें भारत के राज्य गुजरात और केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख पर बेतुका दावा किया गया है। ‘  

इसने कहा, ‘इन मूर्खतापूर्ण बातों की न तो कोई कानूनी वैधता है न ही अंतरराष्ट्रीय विश्वसनीयता. वास्तव में यह नया प्रयास केवल यही पुष्टि करता है कि पाकिस्तान सीमा पार आतंकवाद के माध्यम से क्षेत्र को हासिल करने के लिए व्याकुल है। ‘ इससे पहले प्रधानमंत्री खान ने पाकिस्तान का नया राजनीतिक मानचित्र जारी किया और कहा कि मंगलवार को इसे संघीय कैबिनेट ने मंजूरी दी. नये मानचित्र में पूरे कश्मीर को पाकिस्तान ने अपना हिस्सा दिखाया है । बहरहाल, कश्मीर का कुछ हिस्सा और चीन के साथ लद्दाख की सीमा का चिह्नांकन नहीं किया गया है इसे ‘अनिर्णित सीमा’ बताया गया है । इसी तरह नियंत्रण रेखा को बढ़ाकर काराकोरम दर्रे तक किया गया है जिसमें सियाचिन को स्पष्ट रूप से पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया है । मानचित्र में जम्मू-कश्मीर को ‘विवादित क्षेत्र बताया गया है जिसका अंतिम निर्णय यूएनएससी के संबंधित प्रस्तावों के तहत’ होना है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *