Breaking News Corona Update Crime Dizaster Haridwar Industry Slider Uttarakhand

Breaking News : हरिद्वार में हिंदुस्तान यूनिलीवर कम्पनी के प्रबंधन के खिलाफ मुकदमा हुआ दर्ज। आखिर क्यों ? जाने  

Spread the love

( ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )

हरिद्वार। सिडकुल में स्थित हिंदुस्तान यूनिलीवर कंपनी के कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित होने के मामले लगातार आ रहे है। अभी तक यह संख्या 220 थी , आगे और बढ़ भी सकती है। । पुलिस विभाग ने इस मामले को गंभीरता लेते हुए कंपनी प्रबंधन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। जिसकी पुष्टि एसएसपी सेंथिल अबूदई कृष्णराज एस ने की है।   सिडकुल स्थित हिंदुस्तान यूनिलीवर में कोरोना के 220 केस सामने आने से प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई है। प्रशासन ने कंपनी में उत्पादन बंद करा दिया है। कंपनी में अब तक 220 कर्मचारियों में कोरोना की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 496 सैंपलों की रिपोर्ट आनी बाकी है।आपको बता दे कि रविवार को हरिद्वार जनपद में 171 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें सिडकुल स्थित हिंदुस्तान यूनिलीवर कंपनी के 153 मरीज शामिल रहे। कंपनी में 1400 कर्मचारियों के सैंपलों की जांच में अब तक 224 कर्मचारी पॉजिटिव मिले हैं, जबकि 1800 के सैंपल लिए जा चुके हैं। कंपनी में कुल 2500 कर्मचारी कार्यरत हैं।

( विज्ञापन )


सीएमओ डॉ. शंभू झा ने बताया कि फिलहाल जितने कर्मचारी ड्यूटी पर आ रहे थे, उनके सैंपल लिए जा चुके हैं। बड़ी बात यह है कि जिले के अधिकांश क्षेत्रों में ये कर्मचारी रह रहे हैं। इन सभी को भर्ती करने के लिए कोविड केयर सेंटरों को फिर से शुरू कर दिया गया है। साथ ही कुछ मरीजों को ऋषिकुल और गुरुकुल आयुर्वेद के अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भी भर्ती कराया गया है।
उधर, हिंदुस्तान यूनिलीवर में बड़ी संख्या में कोरोना के मामले सामने आने पर डीएम सी रविशंकर ने आदेश जारी किए हैं कि सभी निजी कंपनियां और उद्योग अपने यहां दस फीसदी कर्मचारियों की कोरोना जांच खुद के खर्चे से निजी लैब से कराएंगे। जांच के लिए कंपनी खुद कर्मचारियों का चयन करेंगी।
अगर इनमें से कोई पॉजिटिव मिलता है तो सभी कर्मचारियों की जांच होगी। साथ ही कोरोना के मरीजों के संपर्क में आने वालों को चिह्नित करने के लिए गांवों और शहरी क्षेत्रों में विलेज व सिटी रिस्पांस के लिए 30 नई टीमों का गठन किया गया है। जिले में अब संक्रमण रोकने के लिए कुल 58 टीमें काम करेंगी, जिनमें 158 कर्मचारी होंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि अभी तक आए मरीजों में 99 प्रतिशत में कोरोना के प्राथमिक लक्षण सामने नहीं आ रहे हैं। 
डीएम सी रविशंकर के आदेश पर अब दस प्रतिशत कर्मचारियों के सैंपलों की जांच होगी। यह आदेश सोमवार से लागू हो गया है। एक जांच की कीमत 2400 रुपये है। सीएमओ ने बताया कि सैंपलिंग के लिए तैयारियां शुरू करा दी गई हैं।


एसएसपी सेंथिल अबूदई कृष्णराज एस ने बताया कि 3 जुलाई को थाना सिडकुल क्षेत्र स्थित हिंदुस्तान युनिलीवर कंपनी के एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाया गया एवं 7 जुलाई को कंपनी का एक अन्य कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हुआ।  उक्त दोनों कर्मचारियों के अवकाश से वापस आने के बाद कंपनी प्रबंधन द्वारा इनकी ट्रेवेल हिस्ट्री का सत्यापन नहीं किया गया एवं न हीं इन्हें क्वॉरेंटाइन किया गया तथा इनके संपर्क में आए व्यक्तियों से लगातार कंपनी में कार्य लिया गया। जिस कारण 19 जुलाई तक कंपनी के कुल 220 कर्मचारीगण कोरोना पॉजिटिव पाए गए।  उन्होंने बताया कि कंपनी प्रबंधन एवं कंपनी के अन्य पदाधिकारियों द्वारा कंपनी में कोरोना संक्रमण फैलने के बावजूद कर्मचारियों से काम कराते रहना, आम जनता व मानव जीवन को खतरे में डालने ,शासन-प्रशासन स्तर से निर्गत दिशा – निर्देशों का उलंघन करना पाया गया। जिसके दृष्टिगत कंपनी प्रबंधन एवं अन्य स्टाफ आदि के विरुद्ध थाना सिडकुल पर मु0 अ0 संख्या 209 / 2020 धारा 269, 270, 271,336,188 भादवि व 51(ख) आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत किया गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *