Haridwar Kumbh mela 2021 Slider Uttarakhand

श्रीपंच दशनाम जूना,अग्नि व आवाहन अखाड़े के रमता पंचो के आगमन शुरू होने के बीच अखाड़े में छावनी बनाने की तैयारियाॅ हुई तेज। आखिर कब निकलेगी पेशवाई ? टैब कर जाने 

Spread the love

* जूना,आवाहन,अग्नि अखाड़े के पंचपरमेष्वर पहुचे काॅगड़ी गाॅव,अखाडे के पदाधिकारियों संग नगर विकास मंत्री ने किया स्वागत

(ब्यूरो ,न्यूज़ 1 हिन्दुस्तान )
हरिद्वार।
श्रीपंच दशनाम जूना आनंद भैरव अखाड़ा तथा श्रीपंच आहवान अखाड़ा के पंच परमेश्वर ने काॅगड़ी गाॅव स्थित श्रीमहंत प्रेमगिरि आश्रम में वृहस्पतिवार की देर रात्रि में पड़ाव डाल दिया है। 4 मार्च को जूना आवाहन अखाडे की पेशवाई पाण्डेवाला,ज्वालापुर,से निकलेगी जो कि जूना अखाड़े की छावनी में प्रवेश करेगी। जूना आवाहन तथा अग्नि अखाडे के पंच परमेश्वर 02मार्च को काॅगड़ी गाॅव से नगर प्रवेश करेंगे और पाण्डेवाला ज्वालापुर में मुकाम करेगे। उधर पंच परमेश्वर के आगमन की पूर्व सूचना मिलने पर जूना अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि महाराज,अन्र्तराष्ट्रीय सभापति श्रीमहंत प्रेम गिरि महाराज,अन्र्तराष्टीय सचिव श्रीमहंत मोहन भारती,मेला प्रभारी श्रीमहंत महेशपुरी,उपाध्यक्ष श्रीमहंत विद्यानंद सरस्वती,सचिव श्रीमहंत शेैलेन्द्र गिरि,दूधेश्वर पीठाधीश्वर व जूना अखाड़ा के प्रवक्ता श्रीमहंत नारायण गिरि, तथा आवाहन अखाड़े के राष्ट्रीय महासचिव श्रीमहंत सत्यगिरि महाराज,श्रीमहंत कैलाशपुरी महाराज ने काॅगड़ी ग्राम पहुचकर पंचों के रूकने की व्यवस्था तथा अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह के साथ मौके का निरीक्षण किया।

श्रीमहंत हरिगिरि के निर्देशो पर मेला प्रशासन ने युद्वस्तर पर जेसीबी सहित अन्य संसाधन जुटाते हुए भूमि का समतलीकरण कराया तथा अन्य पेयजल,शौचालय आदि की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की।    रात्रि लगभग 09बजे पंचपरमेश्वर के जत्थे ने श्रीमहंत भल्ला गिरि,श्रीमहंत सुरेशानंद सरस्वती,श्रीमहंत रमण गिरि,अष्ट कौशल महंत त्रिवेणी गिरि,महंत आंनदपुरी,महंत रूद्रानंद सरस्वती,महंत विजय गिरि,श्रीमहंत मछन्दरपुरी आदि के नेतृत्व में काॅगड़ी गाॅव में प्रवेश किया और अपना पडाव डाल अखाडे के इष्टदेव श्रीदत्तात्रेय भगवान व पवित्र भाले का मन्दिर स्थापित कर दिया। मन्दिर के चारो कोनो पर तेरह मढी सोलह मढी,चार मढी तथा चैदह मढी के श्रीमहंतो के शिविर स्थापित कर नाग सन्यासी सुरक्षा के लिए तैनात कर दिए है। पंचो का स्वागत करने के लिए जूना अखाड़े के सभी पदाधिकारी व सैकड़ो नागा सन्यासी उपस्थित थे। जिन्होने पूष्प वर्षा तथा ढोल नगाड़ो के साथ हर हर महादेव के जयघोष के साथ जोरदार स्वागत किया।              

श्रीपंच आवाहन अखाड़े के पंच परमेश्वर भी शुक्रवार सबेरे श्रीमहंत भगवान भारद्वाज गिरि,श्रीमहंत शरदभारती,श्रमहंत चेतन गिरि,श्रीमहंत महेन्द्रपुरी पूरे लाव लश्कर के साथ काॅगड़ी गाॅव पहुच गये। जहा आहवान अखाड़े के राष्ट्रीय महासचिव श्रीमहंत सत्यागिरि महाराज के नेतृत्व में सचिव श्रीमहंत राजेश गिरि,श्रीमहंत राजेन्द्र भारती,श्रीमहंत ऋषिराज पुरी,श्रीमहंत पूनम गिरि,श्रीमहंत रमाकांत गिरि,श्रीमहंत अवधेशानंद सरस्वती तथा जूना अखाड़े के पदाधिकारियो ने उनका स्वागत किया।  जूना तथा आवाहन के पंच परमेश्वर तथा श्रीमहंतो की आगवानी करने प्रदेश सरकार की ओर से शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक काॅगड़ी गाॅव पहुचे। जहां उन्होने स्थापित देवता की पूजा अर्चना कर पंचो व अन्य संतो का आशीवाद प्राप्त किया। उन्होने संतो सें कुम्भ मेला निर्विध्न तथा ंशांतिपूर्ण सम्पन्न होने का आर्शीवाद माॅगा। शहरी विकास मंत्री श्री कौशिक ने सरकार की ओर से कुम्भ मेले की व्यवस्थाओं तथा अन्य सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने का आश्वासन दिया।   श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने कहा कुम्भ पर्व विश्व का सबसे बड़ा मेला है। हलाॅकि कोरोना महामारी के चलते इसको संक्षिप्त करना पड़ रहा है,लेकिन इसके वाबजूद इसकी भव्यता और दिव्यता में कोई कमी नही आने दी जायेगी। सभी अखाड़े सरकार को पूर्ण सहयोग देंगे और केन्द्र तथा प्रदेश सरकार द्वारा दी गयी गाईड लाईन का पालन करने हुए शाही स्नान करेंगे।


अखाड़े में तैयारियाॅ हुई तेज
हरिद्वार। श्रीपंच दशनाम जूना,अग्नि व आवाहन अखाड़े के रमता पंचो के आगमन शुरू होने के बीच अखाड़े में छावनी बनाने की तैयारियाॅ तेज हो गयी है। 4मार्च को पेशवाई निकलने से पहले सभी व्यवस्थों को तेजी से मुक्कमल किया जा रहा है। जूना अखाड़े के पदाधिकारियों द्वारा लगातार छावनी के आस-पास सभी मूल भूत आवश्यकताओं के अलावा अन्य जरूरी सुविधाएं बढ़ाई जा रही है। जूना अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने बताया कि अखाड़े की पेशवाई निकलने से पहले की सभी व्यवस्था पूर्णता की ओर है। इस बार रमता पंचों के 2मार्च को पाण्डेवाला पहुचेगे। रमता पंचों के लिए जरूरी सुविधाएं बहाल की जा रही है। अखाडे के पदाधिकारी लगातार साधु संतो के लिए व्यवस्था करने में जुटे हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *